samras

Just another Jagranjunction Blogs weblog

23 Posts

1 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 22944 postid : 1113941

दीप जले, खुशियॉं बढ़े

Posted On: 9 Nov, 2015 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दीप जले खुशियॉं बढ़े

 

आओ हम सब मिल खुशियों के दीप जलाऍं,

सारे चमन में ज्ञान का प्रकाश फैलाऍं ।

अज्ञानरुपी तम भगाऍं,

आओ हम सब मिल खुशियों के दीप जलाऍं ।

 

मानवता का सच्‍चा धर्म निभाऍं,

असत्‍य पर सत्‍य विजय – जश्‍न मनाऍं ।

अपराधों से दूर हो जाऍं,

आओ हम सब मिल खुशियों के दीप जलाऍं ।

 

राष्‍ट्रप्रेम का गीत गुनगुनाऍं,

हर हाथ को रोजगार पहुँचाऍं ।

सबका अपना घर हो जाए,

आओ हम सब मिल खुशियों के दीप जलाऍं ।

 

अमन-शांति को आत्‍मसात कर जाऍं,

सर्वधर्म समभाव रक्‍त में घुल जाए।

सबका विकास हो जाए,

आओ हम सब मिल खुशियों के दीप जलाऍं ।

 

आधुनिक तकनीकी को अपनाऍं,

दुश्‍मनों को भी दोस्‍त बनाऍं।

इंटरनेट से रिश्‍ते ना हो बोझिल

आओ हम सब मिल खुशियों के दीप जलाऍं ।

- राजीव सक्‍सेना  

Web Title : समरस

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran